सफल व आसान चमत्कारी टोटके

संतान प्राप्ति के टोटके: घर से बाहर निकलते समय यदि काली गाय आपके सामने आ जाए तो उसके सिर पर हाट अवश्य फेरे| इससे संतान सुख का लाभ  प्राप्त होता है|


*भिखारियो को घुड़ दान देने से भी संतान सुख प्राप्त होता है|
*विवाहित सत्रियों द्वारा नियमित रूप से पीपल की परिक्रमा करने और दीपक जलाने से उन्हें संतान  की प्राप्ति होती है|
*पति-पतनी दोनो अगर आस्था भाव से एक बालरूपी कृषण जी चित्र अपने कक्ष में लगाकर प्रतिदिन 208 बार मंतरा का जप एक वर्ष तक करे | उसकी मनोकामना आवश्या ही पूरी हो जाएगी|
*यदि किसी रजस्वला स्त्री को  स्वपन में नागदेवता के दर्शन हो जाएँ तो स्वयं को कृतार्थ समझना चाईए| यह इस बात का संकेत है की उसके दारा की गई क्रिया सफल हो गई है|सुखी दांपत्या के टोटके: यदि कोई स्त्री रात्रि के समय एक चुटकी सिंदूर अपने पति के सिरहाने रख ले और प्रातः बिस्तर से उठने से पहले ही वह सिंदूर अपनी माँग में भर ले तो दाम्पत्या जीवन सुखी बना रहेगा|
*यदि पत्नी हमेशा अपने हाथ में पीली चूड़ी पहेंन के रखे तो दाम्पत्या जीवन सुखी रहेगा|
*यदि कोई स्त्री दान करना चाहे  तो दान की सामग्री में लाल सिंदूर के साथ इत्र की शीशी , चने की दाल तथा केसर अवश्य रखे| इससे पति की आयु में लंबी होती है|
*यदि विवाहिता प्रतिदिन दुर्गा चालीसा का पाठ करें तो उस स्त्री का परिवार खुशहाल व दाम्पत्या प्रेम अटूट ब्ना रहेगा|
*हब ब घर में कोई खाने पीने की वस्तु आए उसे पहले भगवान के च्रनो में अर्पित करे|गृहस्त जीवन खुशहाल बना रहेगा|

सम्पतिप्र्दायक टोटके: काली मिर्च के पाँच दाने सिर पर से सात बार उसार कर चार दाने चारों दिशा में फेंक दें व एक दाना आकाश की ओर उछाले तो धन का आगमन होगा|
*दीवाली की रात्रि लक्ष्मी पूजन के दीपक में रत भर 11 कौड़िया डालकर रखे तथा उन्हे प्रातः दीपक से निकल कर एक -एक कौड़ी धन रखने के सभी स्थानों पर तथा बाकी घर के प्र्तयेक् सदस्य को दें,इससे लक्ष्मी जी का आगमन होगा|
*संध्या के समय गुरुवार के दिन लोबान की धुनि घर – व्यापार में देने से धन की आवक बढ़ती है|
*धन रखने के स्थान पर या तिजोरी में हमेशा लाल वस्त्र बिछाएँ|
*प्रितिदिन घर में श्री सूक्त का पाठ  करने से भी निरंतर धनागमन होता है|



मनोकामना पूर्ति टोटके: नवरत्रों में प्रितिदिन यदि एक बार देवी सूक्त का पाठ किया जाए तो आपकी मनोकामना पूर्ण हो जाएगी
*बरगद के पते पर अपनी मनोकामना लिखते हुए , यदि उसे बहते होये जल में छोड़ दे तो मनोकामना पूरी होगी|
*एक नया सूती लाल वस्त्र ले कर उसमे जतायुक्त नारियल बांधें एवन उससे अपनी मनोकामना कहते हुए बहते जल में प्रवाहित कर दें|
*प्रात: काल पाँच लाल रंक के फूल यदि हनुमान जी को अर्पित किए जाए तो हनुमान जी आपकी हर मनोकामना पूरी करते है|
*यदि प्रतिदिन मंदिर में मीठी वस्तु का भाग लगाया जाए तो शीघ्र ही मनोकामना फलदायी होती है|
*प्रत्येक बुधवार हारे रंग के वस्त्र धारण करने चाहिएं|इससे मनोवंछित फल की प्राप्ति होती है|

 

नये मकान की शुद्धि की सर्वोतम विधियाँ

नया घर नई शुरुआत,बदलावो और जीवन के विभिन्न पहलुओ संबंधी नई चुनौतियो की शुरुआत होता है| कोई आश्चर्या नही है की धरम और संस्कृति में नये घर में परवेश से पहले की जाने वाली शुद्धिकरण परक्रिया को अत्यधिक म्हतव दिया जाता है| यह समारोह घर से नकारात्मक तरंगो व उर्जा को दूर करता है| यूँ तो हर धरम में नये घर की शुद्दीकरण की अपनी -अपनी विधियाँ होती है परन्तु कुछ आम व बेहद परभावी चीज़ो की जानकारी य्चा दे रहे है जिनका प्रयोग आप अपने घर के शुद्धिकरण के लिए कर सकते है |

Pooja for grah parvesh




जल : प्राचीन काल से पानी को बेहद शकतिशाली शुद्धिकरण त्त्व माना जाता रहा है| ट्यूंटी के आम पानी को एक  कटोरी मैं भर लें| 3 से 4 घंटे तक इससे सूरज की रोशनी में पड़ा रहने दें| अब ये पानी चार्ज होकर शुद्दीकरण के लिए तैयार है| कटोरी को हाथ मैं लेकर ईश्वर से प्राथना करते होये अपना मनोरथ तय करें| शुद्दीक़रण के लिए ताज़ा पतियो से सारे घर में इस जल के छींटे दे|

अग्नि: अग्नि स्वच्छ करने वाला एक ताकतवर त्तव है| एक अग्गरबत्ती या लोभान जला कर सारे घर में घुमाएँ| इस दोरान पवित्र पुस्तकों से या ग्रन्थों से मंत्रोंचरण करते रहें| इसके धुएँ को घर के कोने तक पहॉंचाएँ और अपने नये घर में सवयं और परिवार के लिए प्रसन्नता की कामना करें|

नमक: नमक को भी एक शक्तिशाली शुद्धिकरण त्त्व माना जाता रहा है| अच्छी मात्रा में नमक को कोनों में और कमरों में फैला दें| नमक नकारात्मक उर्जा को सोख लेता है| सुबह इस नमक को झाड़ू से साफ कर घर से बाहर कर दें ताकि घर से नकारात्मक उर्जा भी इसके साथ बाहर हो जाए|

ध्वनि:यह उर्जा को गति देती है और इससे घर को शुद्ध भी किया जा सकता है| प्राथना करने और अपने मनोरथ तय करने के बाद अपनी पसंद की किसी ध्वनि तकनीक का इस्तेमाल करें| कुछ लोग कमरे में तालियो की आवाज़ की गूँज भरना पसंद करते हैं जो किसी भी स्थान में  सकारात्मक उर्जा व विचारों को आकर्षित करती है| कुछ लोग पूजा में प्रयोग होने वाली घंटियों को बजाते होये पुर घर में च्क्कर लगातें हें | ढोल की लयबद्ध ध्वनि से किसी भी स्थान में उर्जा का उच्च स्तर पैदा किया जा सकता है| किसी वाध्यन्त्र के स्थान पर आपकी अपनी आवाज़ भी एक शक्तिशाली शुद्धीकरण त्तव का काम कर सकती है| नये घर में मंत्रोच्चारण , गुनगुनाना या गायन भी इसे शर्तिया तौर पर उर्जा से भर देता है|

विशेष तेल: नये घर के हर कमरे और स्थान पर जाकर मंत्रोच्चरण करने हेतु एरोमथ्हेरपि में इस्तेमाल होने वाले तेल को छिड़के| कोनों पर विशेष ध्यान दें जहा आमतौर पर नकारत्मक उर्जा ज्मे होती है| इस तेल  की खुशबू घर की शुद्धि के लिए काफ़ी ताकतवर त्तव के रूप में काम करती है|



सफ़ाई व पैंटिंग: यदि आप ऐसे घर में परवेश करने वाले है जहाँ आपसे पहले भी कोई रहता था तो उसकी शुद्धिकरण का सबसे प्रभावी तारिक़ है की उस घर के पूर्व निवासियों दवारा पीछे छोड़ी गई नकारात्मक उर्जा को हटाने के लिए घर की अची तरह से सफाई करके वहाँ न्या पैंट करवाया जाए| ऐसा करने का सबसे उपयोक्त मौका तभी होया है जब वह खाली होता है | पर्यापत समय के लिए खिड़किया व दरवाज़ों को खुला रहने दें ताकि सूर्या की रोशनी ह्वा भीतर तक प्रवेश कर सकारात्मक तरंगों से घर भर दें|

This Article is Written by Pandit Ketan Bhargav Continue reading नये मकान की शुद्धि की सर्वोतम विधियाँ